Recents in Beach

indian economy। bhartiya arthvyavastha gk in hindi



हेलो (gkbook.ooo) आपका स्वागत है। इस आर्टिकल में भारतीय अर्थव्यवस्था(bhartiya arthvyavastha) तथा विभिन्न प्रकार की अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन करेंगे।





भारतीय अर्थव्यवस्था

Indian economy


अर्थव्यवस्था का अर्थ व्यवस्था या प्रणाली से है। जिसमें अंतर्गत किसी देश या समाज के सदस्य अपने मौलिक पर्यावरण तकनीकी स्तर मैं रह कर अपना जीवन यापन करते हैं। किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की अवस्था उस देश से प्राकृतिक संसाधनों और निवासियों की क्षमता और संगठन तथा तकनीक क्षमताओं को प्रदर्शित करती है।
  • अर्थशास्त्र आर्थिक समस्याओं के प्रावधान की प्रक्रिया है। economic शब्द ग्रीक भाषा से लिया गया है।
  • economis की शुरुआत ककौटिल्य द्वारा की गई  इनके द्वारा लिखी गयी पुस्तक अर्थशास्त्र थी।
  • फादर ऑफ इकोनॉमिक्स, मॉडर्न इकोनॉमिक्स माइक्रो इकोनॉमिक्स, इन अलग अलग नामो से एडम स्मिथ को संबोधित किया जाता है।
  • एडम स्मिथ के द्वारा 1759 में 'द थ्योरी ऑफ मोरल सेंटीमेंटल' और 1776 में 'वेल्थ ऑफ नेशन' पुस्तक लिखी गई।
  • सन 1929 - 1936 में पूरी दुनिया में महामंदी का दौर रहा। इस महामंदी को जे.एम कींस के द्वारा दूर किया गया। इसी कारण इन्हें मैक्रो (macro) इकोनॉमिक्स का पिता कहा जाता है
  • जे.एम कींस के द्वारा सन 1936 में 'द जर्नल थ्योरी ऑफ़ एंप्लॉयमेंट' और 'इंटरेस्ट एंड मनी' नामक पुस्तक लिखी।
  • इंडियन इकोनॉमिस्ट अमर्त्य सेन को कहा जाता है इनके द्वारा लिखी गई पुस्तक 'इकोनॉमिक वेलफेयर' है। इनको सन 1998 में नोबेल व 1999 में भारत रत्न के द्वारा सम्मानित किया गया।

अर्थव्यवस्था के प्रमुख तत्व
1 एक विशेष क्षेत्र तथा उसका प्राकृतिक पर्यावरण
2 मानवी जनसंख्या
3 भौतिक साधन व तकनीकी क्षमता
4 उत्पादन
5 वितरण
6 उपभोग
7 श्रम विभाजन

अर्थव्यवस्था के प्रकार (types of economy)

पूंजीवादी अर्थव्यवस्था
 इस तरह की अर्थव्यवस्था में उत्पादन के साधनों पर्व पूंजीपति और तथा निजी क्षेत्र का स्वामित्व होता है।
  • सरकार का नियंत्रण सिर्फ व्यवस्था बनाए रखने तक ही होता है।
  • उत्पादन इकाइयों में निवेश मुख्यतः लाभ कमाने की दृष्टि से किया जाता है।
  • इस प्रकार की अर्थव्यवस्था के उदाहरण अमेरिका, ब्रिटेन ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, जापान, इटली, कनाडा आदि देश है।

मिश्रित अर्थव्यवस्था (mixed economy)

  • इसमें सार्वजनिक व निजी क्षेत्र दोनों की भूमिका होती है
  • आर्थिक नियोजन व कीमती तंत्र दोनों का प्रयोग किया जाता है
  • इसमें विकास दर 4 से 6% रहती है।
  • उद्देश लाभ व सामाजिक कल्याण दोनों होता है
  • मिश्रित अर्थव्यवस्था को अपनाने वाला पहला देश फ्रांस था। बाद में इसने पूंजीवादी अर्थव्यवस्था को अपना लिया। मिश्रित अर्थव्यवस्था का उदाहरण भारत है

bhartiya samvidhan sabha ka gathan tatha mang (भारतीय संविधान की मांग)


साम्यवादी अर्थव्यवस्था (communist)

सरकार की भूमिका होती है। यह अपने आप को समय और  आवश्यकता के अनुसार बदल लेती है।
इस प्रकार की अर्थव्यवस्था में सरकार का स्वामित्व और नियंत्रण होता है उदाहरण चीन ,चिली, वेनेजुएला आदि

खुली अर्थव्यवस्था 

खुली अर्थव्यवस्था उसे कहते हैं। जिस देश में आयात और निर्यात पर कोई प्रतिबंध ना हो।

बंद अर्थव्यवस्था

बंद अर्थव्यवस्था का उदाहरण वह देश है। जिसमें आयात और निर्यात पर प्रतिबंध हो।


      क्षेत्रों के प्रकार (type of sector)

प्राथमिक क्षेत्र (primary sector)

जो सीधा प्रकृति के साथ जुड़ा है। उसे प्राथमिक क्षेत्र कहते हैं। जैसे कृषि बागवानी,मछली उत्पादन,पशुपालन,लकड़ी काटना, खनन, आदि।

द्वितीय क्षेत्र ( secondary sector)

मानव द्वारा प्राथमिक क्रिया मैं प्राप्त कच्चे माल के सर्व परिवर्तन जैसे अधिक परिष्कृत एवं नवीन वस्तुओं का निर्माण होता है। को द्वितीय क्षेत्र कहते हैं। इसके प्रमुख उदाहरण उद्योग-धंधे, वस्तु का निर्माण आदि।

तृतीय क्षेत्र(tertiory sector)

सेवा के क्षेत्र को तृतीय क्षेत्र कहा जाता है। उदाहरण बैंकिंग अस्पताल शिक्षा ट्रांसपोर्ट टेलीकॉम आदि।


ऐसी ही प्रतियोगिता परीक्षा के लिए अध्यन सामग्री हेतु हमें फॉलो करें।





Post a Comment

0 Comments